अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण Anda fatane ke bad garbhavastha ke lakshan

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण Anda fatane ke bad garbhavastha ke lakshan . फर्टिलाइजेशन क्या है और यह कब होता है? अंडोत्सर्ग के कुछ सामान्य लक्षण हैं . अंडा टूटना लक्षण , ओवुलेशन (Ovulation) के बाद निषेचन (फर्टिलाइजेशन) के लक्षण

अंडा फटने के बाद कितने दिन हम गर्भवती प्राप्त करने की कोशिश कर सकते हैं ।

जब अंडा (egg) 20 mm के Size का बन जाता है उसके बाद ये Egg रिलीज़ हो जाता है यानि अण्डा फट जाता है । उसको हम ओवुलेशन (Ovulation) बोलते है।

अंडा फटने का मतलब अंडा रिलीज होने से होता है। अंडर रिलीज होने के कितने समय बाद हम गर्भवती होने की कोशिश कर सकते हैं । अंडा फटने के बाद अर्थात अंडा रिलीज होने के 24 घंटे के अंदर यदि शारीरिक संबंध बनाए जाए तो गर्भवती होने की संभावना सबसे अधिक होती है। क्योंकि अंडा रिलीज होने के 24 से 48 घंटे तक जीवित रहता है । अंडा फटने के बाद यदि कोई महिला 24 घंटे के अंदर शारीरिक संबंध बनाती है और पुरुष का वीर्य अंडे को फर्टिलाइजर कर देता है तो गर्भ ठहरने की और गर्भवती होने की संभावना सबसे अधिक होती है । पुरुष का वीर्य 24 से 48 घंटे तक महिला की योनि में रहता है । यदि इस समय में कोई महिला संभोग करती है तो निश्चित ही गर्भ ठहरने की संभावना सबसे अधिक होती है।

Ovulation के बाद निषेचन के लक्षण
अंडा टूटना लक्षण – how many days after egg burst can we try to get pregnant

ओवुलेशन के बाद निषेचन का मतलब अंडे का फर्टिलाइज होना होता है , जब ओवुलेशन के बाद कोई अंडा फर्टिलाइज हो जाता है तब कौन-कौन से लक्षण नजर आते हैं । अंडे के फर्टिलाइजर होते ही महिला के शरीर में कुछ शारीरिक बदलाव देखे जा सकते हैं । जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि निषेचन की प्रक्रिया सफलतापूर्वक हुई है और अंडा फर्टिलाइजर हुआ है । जानिए ओवुलेशन (Ovulation) के बाद निषेचन यानि फर्टिलाइजेशन के लक्षण कोनसे होते हैं ?

ओवुलेशन (Ovulation) के बाद निषेचन (फर्टिलाइजेशन) के लक्षण | ओवुलेशन के बाद प्रेगनेंसी के सिम्पटम्स | गर्भ ठहरने के लक्षण

1 . ओवुलेशन के बाद जब अंडा फर्टिलाइजर होता है तब महिलाओं को प्रेगनेंसी के लक्षण दिखाई देते हैं । यदि किसी महिला को प्रेगनेंसी के लक्षण नजर आए तो यह अंडे के फर्टिलाइजेशन का पहला संकेत होता है ।

2 . ओवुलेशन के बाद निषेचन अर्थात फर्टिलाइजेशन का पहला लक्षण यही होता है कि उस महिला का अगला पीरियड नहीं आता है और पीरियड मिस हो जाता है ।

3 . फर्टिलाइजेशन अर्थात निषेचन का दूसरा लक्षण यह होता है कि उस महिला का जि मचलाने लगता है और उल्टी जैसा महसूस होता है । साथ ही उल्टी करने का मन भी करता है ।

4 . ओवुलेशन के बाद जैसे ही अंडा फर्टिलाइज होता है तब उस महिला को भूख अधिक लगती है और बार-बार खाना खाने की इच्छा होती है ।

5 . ओवुलेशन के बाद निषेचन का एक लक्षण यह भी होता है कि अंडे के निषेचन के बाद महिला का मूड बार-बार बदलता रहता है । महिला के मूड में तेजी से परिवर्तन होता रहता है ।

6 . अंडे के फर्टिलाइजर होने के बाद महिला के शरीर का तापमान बढ़ जाता है । महिला के शरीर का तापमान बढ़ना इस बात की ओर संकेत करता है कि अंडा निशेचित हुआ है और फर्टिलाइज हो गया है ।

7 . ओवुलेशन के बाद अंडे के फर्टिलाइजर होने पर अधिकतर महिलाओं को कब्ज की शिकायत रहने लगती है । महिलाओं का पेट सही से साफ नहीं होता है और कब्ज की समस्या बनी रहती है ।

8 . ओवुलेशन के बाद अंडे के फर्टिलाइज होने पर महिला के स्तन कोमल हो जाते हैं तथा स्तनों में दर्द होना शुरू हो जाता है । कुछ महिलाओं के स्तन भारी हो जाते हैं ।

9 . ओवुलेशन के बाद अंडे के फर्टिलाइज होने पर महिला को बार बार पेशाब लगने की शिकायत शुरू हो जाती है । महिला को बार बार पेशाब करने का मन करता है और बार-बार पेशाब लगता है ।

10 . ओवुलेशन के बाद अंडे के फर्टिलाइज होने पर कुछ महिलाओं में थकान आना शुरू हो जाती है और महिला को बहुत अधिक थकान महसूस होती है ।

11 . ओवुलेशन के बाद अंडे के फर्टिलाइज होने पर महिलाओं में सिरदर्द की समस्या देखी जा सकती है । कुछ महिलाओं को सिर दर्द होना शुरू हो जाता है तो कुछ महिलाओं का सिर भारी रहने लगता है।

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण? – Pregnancy Symptoms After Ovulation in Hindi आइए दोस्तों आज हम आपको बताते हैं कि अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण? – Pregnancy Symptoms After Ovulation in Hindi दोस्तों क्या आप लोग यह जानते हैं कि अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण कौन-कौन से होते हैं।

कौन-कौन से लक्षण गर्भावस्था के दौरान जब महिला का अंडा फट जाता है, तो उसके बाद भी दिखाई देते हैं, दोस्तों कुछ महिलाओं के लिए यह जान पाना बहुत मुश्किल होता है कि महिलाओं के मन में यह जानने की इच्छा रहती है, की गर्भावस्था के लक्षण कब और कितने दिन में दिखाई देने लग जाते है।

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण जाने के लिए हमारे साथ बने रहे दोस्तों जब महिला प्रेग्नेंट होती है तो प्रेगनेंसी के कुछ ही दिनों में महिला के शरीर में ऐसे ऐसे लक्षण दिखाई देने लग जाते हैं।

जिनसे हम यह बता सकते हैं कि महिला प्रेग्नेंट है अंडा फटने के बाद महिलाओं प्रेगनेंसी के कई सारे लक्षण दिखाई देती है। कौन-कौन से लक्षण अंडा फटने के बाद महिलाओं में दिखाई देते हैं, इसलिए इसके बारे में जान लेते हैं।

अंडा फटने के बाद गर्भावस्था के लक्षण? – Pregnancy Symptoms After Ovulation in Hindi

मॉर्निंग सिकनेस

मॉर्निंग सिकनेस आप यह पता लगा सकते हैं कि महिला प्रेग्नेंट है इसमें प्रेग्नेंट महिला को सुबह-सुबह बहुत ज्यादा उल्टी और जी घबराता है इसे ही मॉर्निंग सिकनेस कहते हैं यह प्रेगनेंसी में सभी को होती है। शुरुआती 3 महीनों में महिला को बहुत ज्यादा मॉर्निंग सिकनेस का सामना करना पड़ता है।

उल्टी आना

प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में महिला को उल्टी आती है और महिला का जी घबराता है अगर किसी के साथ ऐसा होता है, तो आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि महिला प्रेग्नेंट है।

बार बार पेशाब आना

बार-बार अगर किसी महिला को पेशाब आता है तो इस बात का सीधा सा मतलब होता है कि महिला प्रेग्नेंट है।

चक्कर आने लगते है

प्रेग्नेंट महिला को चक्कर आने लग जाते हैं शुरुआती समय में महिला को ज्यादा चक्कर आते हैं और उल्टी जैसा महसूस होता है।

कब्ज और गैस

प्रेगनेंसी के शुरुआती तिमाही और आखिरी तिमाही में कब्ज और गैस की बहुत ज्यादा समस्या रहती है।

पीरियड्स ना आना
अगर कोई महिला प्रेग्नेंट होती है तो महिला को पीरियड नहीं आता है पीरियड बंद हो जाता है।

स्तनों में बदलाव आना

प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों से ही प्रेग्नेंट महिला के स्तनों में बदलाव आने लग जाता है‌। महिला के स्तन काले पडने लग जाते हैं।

थकान

प्रेगनेंसी में महिला को बहुत ज्यादा थकान होने लग जाती है‌। कभी-कभी तो प्रेगनेंसी के पूरे 9 महीने तक ही महिला को थकान महसूस होती है।

पेशाब के रंग में बदलाव

प्रेगनेंसी में महिला के पेशाब का रंग बदलने लग जाता है कभी प्रेग्नेंट महिला को बहुत ज्यादा पीले कलर के पैसा आते हैं।

स्वाद और गंध का बोध होना

प्रेगनेंसी में महिला को स्वाद और गंध से सबसे ज्यादा समस्या होती है। महिला को कुछ चीजें अच्छी लगती है तो कुछ गंद बहुत ज्यादा खराब लगती है।

शरीर का तापमान बढ़ना

प्रेगनेंसी में महिला के शरीर का तापमान बढ़ता और कब होता रहता है। कभी महिला का शरीर का तापमान बढ़ जाता है, तो कभी कम हो जाता है।

मूड बदलना

अगर कोई महिला प्रेग्नेंट होती है तो बार-बार उसका मूड बदलता रहता है कभी मूड अच्छा होता है, तो कभी मूड बहुत ज्यादा खराब हो जाता है।

कमर में दर्द होना

प्रेगनेंसी में महिला के कमर में दर्द होने लग जाता है। महिला के कमर में पीरियड जैसा दर्द होता है।

सिरदर्द

प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में महिला का बहुत ज्यादा सिर दर्द होता है। सिर दर्द भी प्रेगनेंसी का ही लक्षण होता है।

खाने की लालसा बढ़ना

प्रेगनेंसी में गर्भवती महिला की खाने की लालसा बढ़ जाती है। महिला का मन बार-बार कुछ न कुछ करने को करता है।

यौन क्रिया की इच्छा

प्रेगनेंसी में यौन क्रिया की इच्छा ज्यादा मन करता है जब महिला प्रेग्नेंट होती है, तो महिला का मन हो सबसे ज्यादा यौन क्रिया करने को करता है।

पेट में मरो‌ड़ आना

प्रेगनेंसी में महिला के पेट में बहुत ज्यादा मरोड़ आते हैं। बार-बार महिला का पेट दर्द होता है।

मासिक धर्म के लक्षण महसूस होना

प्रेगनेंसी में महिला को बार-बार मासिक धर्म के लक्षण महसूस होते हैं। शुरुआती दिनों में सबसे ज्यादा महिला को बार-बार ऐसा महसूस होता है, कि महिला को पीरियड आने वाला है।